Thursday , October 18 2018
Breaking News
Home / आलेख

आलेख

आलेख

व्यंग्य : मी टू वर्सेज यू टू

चारों ओर मी टू का हाहाकार मचा हुआ है। किसी से भी पूछ लो, बच्चा तक बता डालेगा मी टू चल रिया है। फोक-वोग दूर-दूर तक नहीँ दिखाई दे रिया। पुरुष जाति दशहत में है। कब किधर से किसके पुराने पाप उघड़ जाएं कोई नहीँ जानता। कब मी टू का …

Read More »

अद्भुत—आलौकिक माता भद्रकाली का धाम : गुफा के भीतर बहती है नदी की जलधारा, नदी के बीच अवस्थित विशाल शक्ति कुंड !

माता भद्रकाली का यह धाम बागेश्वर जनपद में महाकाली के स्थान कांडा से करीब 15 और जिला मुख्यालय से करीब 40 किमी की दूरी पर सानिउडियार होते हुए बांश पटान—सेराघाट निकालने वाली सड़क पर भद्रकाली नाम के गांव में स्थित है। यह स्थान इतना मनोरम है कि इसका वर्णन करना …

Read More »

आज भी व्याप्त है भ्रष्टाचार रूपी दशानन का अत्याचार

आज हम सभी भले ही सच्चाई की जीत का जश्न मनाने को तैयार हों, किन्तु वास्तव में केवल यह हमने एक मात्र परंपरा के रूप तक ही सिमित रख दी है। सोचा जाय तो हमने कभी भी भगवान श्री रामचन्द्र जी के आदर्शों पर चलने की कोशिश या कभी कल्पना …

Read More »

21 सितम्बर विश्व शांति दिवस पर विशेष : असीम उर्जा और शक्ति प्रदान करती है शांति

शांति शक्ति का प्रतीक है। एक ऐसी शक्ति जो हमें असीम ऊर्जा से भर देती है। जो हमारे अन्तःकरण में सकरात्मक विचारों का स्त्रोत प्रस्फुटित करती है। हमारे भावों को पावन करती है। शांति के द्वारा ही शुचिता के विचार पोषित होते हैं। शांति अहिंसा के लिए उद्वेलित करती है। …

Read More »

वीरखम्भ और कत्यूरी समय के मंदिरों से जुड़े हुए क्षेत्र ‘डुंगरी गांव‘ की ऐतिहासिकता

संपादक की कलम से- अल्मोड़ा प्रागैतिहासिक काल से जुड़ा हुआ स्थान है। प्रागैतिहासिक समय से जुड़ा होने के साथ-साथ चंद-कत्यूर शासकों से जुड़ा हुआ भी स्थान है। आज भी बीते हुए इतिहास को हम बीहड़ जंगलों में पा रहे हैं, जिनकी जानकारी हमारे जनसमाज को अभी भी नहीं है। डाॅ. …

Read More »

देवी ‘नन्दा‘ हमारी सांस्कृतिक थात, जानें क्या है नंदादेवी की उपासना व मेले के ऐतिहासिक तथ्य !

डाॅ0 ललित चंद्र जोशी, गेस्ट प्रवक्ता, पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग,  सोबन सिंह जीना परिसर, अल्मोड़ा के शोधपरक लेखों की श्रृंखला में नंदादेवी पर लिखा यह ​लेख वसतुत: गंभीर पाठकों के लिए ही है। आलेख में बेहद विस्तार से नंदादेवी महोत्सव और पूजन पर जो तथ्यात्मक जानकारी दी गई है, वह …

Read More »

घुमक्कड़ों की घुमक्कड़ी (यात्रा वृतांत): समृद्ध इतिहास से भरा हुआ है गणनाथ क्षेत्र

उत्तराखंड कत्यूरी और चंद शासकों से जुड़ा हुए ऐतिहासिक स्थान है। यह राज्य ऐतिहासिक दृष्टि से समृद्ध है। इस राज्य में आज भी ऐतिहासक स्थल पूरे देश के अध्येताओं, शोधार्थियों, खोजकों, शोधकों के लिए महत्वपूर्ण हैं। यदि इस पूरे राज्य का सूक्ष्म अवलोकन के साथ अध्ययन किया जाए तो हमें …

Read More »

‘घुमक्कड़ों’ को मिले सबसे गहरे ‘कप मार्क्स‘ और कत्यूरी काल के ‘बीरखम्भ‘

इतिहास किसको अच्छा नहीं लगता। इतिहास जिसका समृद्ध है, उसको अपने इतिहास पर नाज होना चाहिए। अल्मोड़ा तथा उसके आस-पास भी इतिहास के अवशेष आज भी विराजमान हैं। कहीं पर यह अवशेष आज मानवीय हस्तक्षेप के कारण काल-कवलित हो गए हैं, तो कहीं पर सड़क बनाने के कारण इनको तोड़ …

Read More »

झीलें, तालाब, कलकल करती नदियां, ऐतिहासिक देव मंदिर, ऊंची पर्वत श्रृंख्लायें ! यह है देव भूमि उत्तराखंड !

— दिनेश भट्ट — उत्तराखंड को देव भूमि कहा जाता है और उत्तराखंड के झरने, वादियां और तीर्थ स्थल पर्यटकों का मनमोह लेते हैं। इसी वजह से यहां पर्यटकों का विशेष रूझान रहता है। हालांकि 9 नम्वर 2000 को उत्तराखंड उत्तर प्रदेश से अलग होकर नया राज्य बना था। पहले …

Read More »

आलेख : राजनीति के अजातशत्रु का महाप्रयाण

पिथौरागढ़। भारत रत्न, भारतीय राजनीति के शिखर पुरुष, अजातशत्रु, महाकवि का महाप्रयाण सम्पूर्ण राष्ट्र को विचलित करने वाला है। अटल जी का न होना एक महान राजनेता का न होना है, एक महाकवि का न होना है, एक आदर्श पत्रकार का न होना है, एक प्रखर वक्ता का न होना …

Read More »