Friday , November 16 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Almora / बिग ब्रेकिंग : राजकीय बाल गृह से 10 वर्षीय बालक भाग निकला, स्टॉफ में मचा हड़कंप, मौके पर पहुंची पुलिस टीम, आॅन ड्यूटी स्टॉफ पर हो सकती है कार्रवाई
राजकीय शिशु सदन और फरार हुआ बालक साबिर

बिग ब्रेकिंग : राजकीय बाल गृह से 10 वर्षीय बालक भाग निकला, स्टॉफ में मचा हड़कंप, मौके पर पहुंची पुलिस टीम, आॅन ड्यूटी स्टॉफ पर हो सकती है कार्रवाई

मामले की जांच करते थानाध्यक्ष नीरज भाकुनी

अल्मोड़ा। यहां राजकीय शिशु बाल गृह बख में विगत माह लाया गया 10 वर्षीय बालक आज बाल गृह की चाहरदीवारी फांद कर भाग निकला। इस घटना के बाद से बाल गृह में हड़कंप मच गया है। जिला प्रोबेशन अधिकारी और पुलिस बल ने मौके पर आकर मामले की जांच की। पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्टया यह मामला लापरवाही का है। इसमें जांच पूरी होने पर ही अग्रिम कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार आज सुबह के समय जब शिशु गृह का स्टॉफ रोजाना के कार्यों में व्यस्त था तब यहां रह रहा दस वर्षीय बालक मोहम्मद साबिर पुत्र मौ. मुस्तकीन मौके का फायदा उठाकर लोहे की जंगले वाली रेलिंग फांद कर भाग निकला। जैसे ही बच्चे के भागने की सूचना​ मिली पूरा स्टॉफ उसकी ढूंढ—खोज में लग गया, लेकिन बच्चे का कुछ पता नहीं चला। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर जिला प्रोबेशन अधिकारी राजीव रंजन तिवारी और थानाध्यक्ष अल्मोड़ा नीरज भाकुनी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये। पूछताछ में अधीक्षिका मंजू उपाध्याय ने बताया कि यह बालक 21 सितंबर को यहां लाया गया था। वह लुधियाना का रहने वाला है। यह बालक पुलिस को भतरौजखान में घूमता मिला था। पुलिस ने इसे बाल कल्याण हेल्पलाइन के सुपुर्द किया। चाइल्ड हैल्प लाइन के सदस्यों ने बच्चे की काउंसलिंग के उपरांत बच्चे के माता—पिता ने उसे लुधियाना में बुआ के पास छोड़ दिया था। जहां से वह भाग गया था। ​समाज कल्याण अधिकारी व पुलिस ने मुख्य रूप से

मामले की जानकारी देते जिला प्रोबेशन अधिकारी और अधीक्षिका

चौकीदार गिरधारी बिष्ट, नर्स चंद्रा टम्टा, पीआरडी हंसा पांगती, रसोईया कमला बिष्ट और योग शिक्षिका वंदना पाण्डेय से पूछताछ की। थानाध्यक्ष ने कहा बालक के भागने के इस मामले की हर पहलू से जांच की जा रही है। जांच के उपरांत अग्रिम कार्रवाई तय की जायेगी।

डांस का है शौकीन, अन्य बच्चों से कर देता था मारपीट
अल्मोड़ा। पूछताछ में यह बात सामने आई कि बालक साबिर को डांस का बहुत शौक रहा है। इसी शौक के चक्कर में वह अपनी बुआ के घर से भाग गया था। पता चला है कि वह कई बार पूर्व में अपने घर से भाग चुका है। यहां बाल कल्याण गृह में भी उसका ​व्यवहार अन्य बच्चों के साथ अच्छा नहीं रहा। वह छोटे बच्चों के साथ अकसर मारपीट करता रहता था। बताया गया है कि यहां अन्य बच्चे बेहद छोटे हैं, जिनके साथ साबिर को रखने में काफी दिक्कतें भी पेश आ रही थीं।

12 लोगों का स्टॉफ 21 बच्चों की करता है देखभाल
अल्मोड़ा। यहां राजकीय शिशु बाल गृह में अधीक्षिका मंजू उपाध्याय सहित कुल 12 लोगों का स्टॉफ है, जबकि यहां शून्य से 10 साल तक के 21 बच्चे रहते हैं।

About dheeraj kumar

Check Also

जानलेवा हमले के आरोपी को गिरफ्तार करके लौट रही राजस्व पुलिस की टीम से भरी मैक्स रामगंगा में गिरी, सात घायल

भिकियासैंण| तहसील मुख्यालय से दस किमी दूर जैनल स्याल्दे मोटर मार्ग पर अमरोली बैंड पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *