Saturday , November 17 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Almora / डॉ. पवनेश ठुकाराठी को बहादुर बोरा ‘श्रीबंधु’ कहानी पुरस्कार, त्रिदिवसीय राष्ट्रीय कुमाऊनी भाषा सम्मेलन कल
पवनेश ठकुराठी

डॉ. पवनेश ठुकाराठी को बहादुर बोरा ‘श्रीबंधु’ कहानी पुरस्कार, त्रिदिवसीय राष्ट्रीय कुमाऊनी भाषा सम्मेलन कल

अल्मोड़ा। कुमाऊनी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति प्रचार समिति द्वारा कुंदन लाल शाह प्रेक्षागृह थाना बाजार में 10 नवम्बर से आयोजित होने वाला त्रिदिवसीय राष्ट्रीय कुमाऊनी भाषा सम्मेलन की तैयारियां पूरी हो चुकी है। इसी बीच बहादुर बोरा श्रीबंधु कहानी पुरूस्कार व अन्य पुरूस्कारों के परिणाम भी सामने आ चुके है। पहरू संपादक डॉ. हयात सिंह रावत ने बताया कि इस साल का बहादुर बोरा श्रीबंधु कुमाऊनी कहानी पुरूस्कार युवा कहानीकार डॉ. पवनेश ठकुराठी को प्रदान किया जायेगा। इस पुरूस्कार के निर्णायक मंडल में वरिष्ठ कथाकार खुशाल सिंह खनी, भैरव दत्त पांडे व डॉ. प्रति आर्या थे। पवनेश ठकुराठी के कुमाऊनी कहानी संग्रह म्यार गों डॉट कॉम समेत पंद्रह पुस्तकें प्रकाशित की है। नवीन कथ्य और शिल्प का प्रयोग इनकी कहानियों में हुआ है। डॉ. रावत ने बताया कि इस बार सम्मेलन में पहरू पत्रिका द्वारा आयोजित विभिन्न लेखन प्रतियोगिताओं में विजयी रहे चौबीस रचनाकारों को भी पुरूस्कृत किया जायेगा। इसके अलावा सम्मेलन में दस वरिष्ठ रचनाकारों को कुमाऊनी साहित्य सेवी सम्मान, कुमाऊनी भाषा के प्रचार—प्रसार में जुटे पांच सेवियों को कुमाऊनी संस्कृति सेवी सम्मान से सम्मानित किया जायेगा। इस प्रकार इस वर्ष कुल 27 पुरूस्कार व बीस सम्मान कुमाऊनी साहित्य सेवियों को प्रदान किए जायेंगे। इस सम्मेलन में देश भर के साहित्यकार प्रतिभाग करेंगे। जो कुमाऊनी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति प्रचार समिति एवं सम्मेलन आयोजन समिति ने कुमाऊनी भाषा को मान्यता दिए जाने के समर्थन हेतु इस सम्मेलन में अधिक से अधिक लोगों से प्रतिभाग करने की अपील की है।

About dheeraj kumar

Check Also

भाजपा ने किए नौ कार्यकर्ता निष्कासित

जय प्रकाश बहुगुणा बड़कोट। भारतीय जनता पार्टी उत्तरकाशी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल बड़कोट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *