Wednesday , December 12 2018
Breaking News
Home / Uttarakhand / Almora / फूड प्वजनिंग की घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

फूड प्वजनिंग की घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

अल्मोड़ा। उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने नकली, मिलावटी, जहरीले खाद्य पदार्थ पर सख्ती से रोक लगाये जाने व स्वास्थ्य सेंवायें दुरूस्त किए जाने की मांग को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। ज्ञापन में उन्होंने कहा कि बागेश्वर जिले में बास्ती एवं गडेरा गांव में 30 नवंबर को फूड प्वाइजनिंग की ह्दय विदारक घटना के बाद मिलावटी खाद्य पदार्थो, स्वास्थ्य सेवाओं और शासन तंत्र की जो स्थिति सामने आ रही है वे गंभीर चिंता का कारण बन रही है। इस घटना में चार लोगों के मरने व सैकड़ों लोगों के बीमार होने से जनता में भय व्याप्त है। इस घटना ने साबित किया है कि पर्वतीय क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर मिलावटी व घटिया खाद्य पदार्थो की आपूर्ति की जा रही है और इन से पैदा होने वाली किसी आपात स्थिति से निपटने की सरकार, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के पास कोई योजना व व्यवस्था नही है। जो पूरे सरकारी तंत्री के विफल होने का प्रमाण है। आपकी और इससे पहले की सरकारें लगातार उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार की योजनाओं की बातें करते रही है, लेकिन स्थितियां लगातार बद से बद्दतर हो रही है। वास्ती की घटनाए इसका प्रमाण दे रही है। इन स्थितियों में यह आवश्यक हो गया है कि उत्तराखंड में सरकारों, विभिन्न कंपनियों, व्यापारियों, संस्थाओं द्वारा आपूर्ति होने वाले, निर्मित होने वाले सामानों की गहराई से जांच हो ताकि लोग बास्ती जैसी घटनाओं व तरह—तरह की बीमारियों के चपेट में आने से बच सके। हम समझते है कि प्रदेश सरकार को इस ओर तत्काल ध्यान देकर यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जनता को घटिया मिलावटी व जहरीले पदार्थो के व्यापार से कैसे बचाया जाय इसके साथ स्वास्थ्य सेवाओं के बाजारीकरण से आई विकृतियों को दूर कर सबको गुणवत्तापूर्ण सम्यक रूप ये नि:शुल्क स्वास्थ्य सेवाए प्रदान किया जाय। उन्होंने बास्ती में फूड प्वाईजनिंग की घटना की उच्च स्तरीय जांच कर इसके लिए दोषियों को कड़ा दण्ड देन, इस घटना के पीड़ित परिवारों को हर तरह की मदद प्रदान करने, पूरे प्रदेश में सास कर दूर—दराज के पर्वतीय क्षेत्रों में घटिया, मिलावटी व जहरीले पदार्थो की आपूर्ति के खिलाफ अभियान चला कर दोषियों को दंडित करने की व्यवस्था करने, यह सुनिश्चित किया जाय कि जनता को पहाड़ से पलायन, विस्थापन को रोकन हेतु स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ कर अस्पतालों में योग्य चिकित्सक, दवाओं, आवश्यक उपकरण की व्यवस्था करने, दूध—दही, तेल, अन्य तरल पदार्थ की नियमानुसार जांच की करने, जरूरमंदों के लिए हैली एम्बुलेन्स सेवा प्रारंभ करने की मांग की हैं।

About dheeraj kumar

Check Also

हादसा : पनुवानौला के पास पेड़ जा टकराई मैक्स, कई घायल

Post Views: 233 पनुवानौला/अल्मोड़ा। यहां पनुवानौला से अल्मोड़ा को आ रहा एक टैक्सी मैक्स वाहन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *